हिंदुओं व सनातन धर्म की रक्षार्थ अभियान छेड़ा जाएगा : स्वामी डॉ. दिनेश्वरानंद 

CHANDIGARH, 30 JAN: अखिल भारतीय संत समिति द्वारा सेक्टर 19 स्थित अंतर्राष्ट्रीय ब्रह्मऋषि मिशन के परिसर में आज तीन दिवसीय संत सम्मेलन का समापन हुआ। समिति के अध्यक्ष स्वामी डॉ. दिनेश्वरानंद … Read More

सीनियर सिटीजन काउंसिल सेक्टर-7 पंचकूला ने कविताओं व लोकगीतों के बीच धूमधाम से मनाई लोहड़ी और मकर संक्रांति

Lohri and Makar Sankranti Festival PANCHKULA, 15 JANUARY: सीनियर सिटीजन काउंसिल सेक्टर-7 पंचकूला ने लोहड़ी व मकर संक्रांति के अवसर पर सेक्टर-7 के पार्क 264 नंबर के सामने एक शानदार … Read More

सम्मेद शिखर के संरक्षण के लिए चंडीगढ़ ट्राइसिटी के जैन समाज ने धर्म सभा व जागरूकता रैली में दिखाई एकजुटता

पंजाब व हरियाणा के राज्यपालों को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन अभी सिर्फ रोष मार्च स्थगित किया है, मांगें पूरी होने तक आंदोलन रहेगा जारीः कैलाश चंद जैन … Read More

इंसान को मानव जीवन परमात्मा को जानने के लिए मिला है : सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज

CHANDIGARH, 5 JAN: सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने आज राजपुरा की नई अनाज मंडी में विशाल निरंकारी संत समागम के अवसर पर हजारों की गिनती में पहुंची संगतों को … Read More

प्रेम, शांति व मानवता के दिव्य संदेश के साथ 75वें वार्षिक निरंकारी संत समागम का समापन

CHANDIGARH, 21 NOVEMBER: ”स्वयं को शांति एवं प्रेम का स्वरूप बनाते हुए पूरे संसार में इन दिव्य भावों को फैलाते जायें।” ये उद्गार निरंकारी सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने … Read More

75वें निरंकारी समागम में उमड़ा जनसमूहः परमात्मा के प्रति निस्वार्थ प्रेम ही सच्ची भक्ति है- निरंकारी सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज

Nirankari Samagam SAMALKHA (HARYANA), 18 NOVEMBER: परमात्मा के प्रति निःस्वार्थ प्रेम ही सच्ची भक्ति कहलाती है। ऐसी ही निष्काम प्रेम की भावना संतों की होती है।’ यह बात निरंकारी सदगुरु माता सुदीक्षा जी … Read More

गीता जयंती महोत्सव के लिए तीर्थ यात्रियों को छूट: हरियाणा रोडवेज की बसों में लगेगा केवल 50 प्रतिशत किराया

International Gita Jayanti Celebration CHANDIGARH, 18 NOVEMBER: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कुरुक्षेत्र में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह में 19 नवम्बर से 6 दिसम्बर तक जाने के लिए … Read More

75वें वार्षिक निरंकारी संत समागम का भव्य शुभारम्भ

रुहानियत और इंसानियत से ही बन सकता है पूर्ण इंसान–  निरंकारी सदगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज CHANDIGARH,17NOVEMBER:”रुहानियत और इन्सानियत से ही हम पूर्ण इन्सान बन सकते हैं” ये उद्गार निरंकारी सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने 75वें वार्षिक निरंकारी संत समागम का विधिवत शुभारंभ करते हुए मानवता के नाम संदेश में व्यक्त किए। यह चार दिवसीय समागम निरंकारी आध्यात्मिक स्थल, समालखा (हरियाणा) के विशाल मैदानों में आयोजित किया गया है जिसमें देश एवं दूर देशों से समाज के विभिन्न स्तरों के श्रद्धालु भक्त एवं प्रभु प्रेमी सज्जन लाखों की संख्या में सम्मिलित हुए हैं। चंडीगढ़  के संयोजक ने बताया कि चंडीगढ़ से हजारो श्रद्धालु इस समागम में पहुंचे है । सत्गुरु माता जी ने अपने संदेश में कहा कि लगभग दो वर्ष के पश्चात आज यहां देश विदेश से भक्तजन, संतजन एकत्रित हुए हैं। क्योंकि कोविड महामारी के दौरान इन्सान का इन्सान से मिलना-जुलना सम्भव नहीं हो पा रहा था। संत हर समय मानवता की सेवा के लिए तत्पर रहते हैं और इसी का प्रमाण कोविड के दौरान रक्तदान शिविर, निरंकारी भवनों का कोविड केयर केन्द्रों में परिवर्तित करना, कोविड टीकाकरण के लिए विशेष शिविर तथा जरूरतमंदों की सहायता करते हुए संतजनों ने दिया है। सत्गुरु माता जी ने आगे कहा कि कोविड महामारी के अलावा युद्ध की स्थिति से भी मानव के दिलों में नफ़रत की भावनायें बढ़ी हैं जिसके कारण मानव-मानव के बीच दीवारें बनी हैं, जिन्हें प्यार के पुल बना कर ही गिराया जा सकता है। तभी एकत्व से अपनत्व का भाव बनेगा और हर मानव सुख चैन से जीवन बिता पायेगा। देश के आज़ादी के अमृत महोत्सव का जिक्र करते हुए सत्गुरु माता जी ने कहा कि मिशन भी 75वां वार्षिक निरंकारी संत समागम मना रहा है। देश की आज़ादी द्वारा हम भौतिक रूप में तो आज़ाद हो गए, किन्तु रूह की आज़ादी परमात्मा की पहचान द्वारा ही सम्भव है। उसके उपरान्त ही सही अर्थों में मानवीय गुणों से युक्त जीवन जिया जा सकता है और मुक्ति भी प्राप्त हो सकती है।  इसके पूर्व आज अपरान्ह सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज एवं उनके जीवनसाथी राजपिता रमित जी का समागम स्थल पर आगमन होते ही समागम समन्वय समिति के सदस्यों द्वारा फूलों का गुलदस्ता देकर उनका हार्दिक स्वागत किया और एक फूलों से सजी हुई पालकी में विराजमान कर मुख्य मंच तक उनकी अगुवाई की। इस अवसर पर श्रद्धालु भक्त दिव्य जोड़ी को अपने सान्निध्य में पाकर भावविभोर हुए और उनकी आंखों से खुशी के आंसू छलक उठे। समूचे समागम प्रांगण में जयघोष की दिव्य ध्वनि गूंज उठी। सभी ओर दिव्यता का ऐसा अद्भुत वातावरण प्रकाशित हो रहा था और इस भक्तिमय वातावरण में सराबोर होते हुए हर भक्त आनंद की अनुभूति कर रहा था। समागम पंडाल में उपस्थित लाखों भक्तों ने दिव्य युगल का श्रद्धाभाव से अभिवादन किया। भक्तों के अभिवादन को स्वीकार करते हुए दिव्य युगल ने अपनी मधुर मुस्कान द्वारा सभी श्रद्धालुओं को आशीष प्रदान किए। सेवादल रैली निरंकारी संत समागम के इतिहास में ऐसा प्रथम बार हुआ कि जब एक पूरा दिन सेवादल को समर्पित किया गया। इसी के अंतर्गत बुधवार,16 नवंबर को एक रंगारंग सेवादल रैली का आयोजन किया गया जिसमें प्रतिभागियों ने शारीरिक व्यायाम, खेलकूद, मानवीय मीनार एवं मल्लखंब जैसे करतब दिखाए।इसके अतिरिक्त वक्ताओं, गीतकारों एवं कवियों ने समागम के मुख्य विषय ‘रूहानियत एवं इन्सानियतÓ पर आधारित विभिन्न कार्यक्रम प्रस्तुत किए जिसमें व्याख्यान, कवितायें, ‘सम्पूर्ण अवतार बाणीÓ के पावन शब्दों का गायन, समूह गीत एवं लघुनाटिकाओं का सुंदर समावेश था। सेवादल रैली में सम्मिलित हुए स्वयंसेवकों को अपना पावन आशीर्वाद प्रदान करते हुए सत्गुरु माता जी ने कहा कि सेवाभाव से युक्त होकर की गई सेवा

प्राचीन हनुमान मंदिर सेक्टर 32-ए में श्री श्याम महोत्सव 30 अक्तूबर को

CHANDIGARH, 27 OCTOBER: श्री खाटू श्याम प्रचार मण्डल ट्रस्ट, चण्डीगढ़ द्वारा 24वां विशाल श्री श्याम महोत्सव 30 अक्टूबर दिन रविवार को सायं 5 बजे से प्रभु इच्छा तक प्राचीन श्री … Read More

डेरा प्रमुख राम रहीम ने हनीप्रीत का बदला नाम, डेरे की गद्दी को लेकर चर्चाओं पर भी लगाया विराम

Dera chief Ram Rahim changed the name of Honeypreet BAGPAT (UTTAR PRADESH): हरियाणा की सुनरिया जेल में कैद डेरा सच्चा सौदा सिरसा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम इन दिनों पैरोल … Read More

चंडीगढ़ ट्राइसिटी में कैसा रहा सूर्य ग्रहण, तस्वीरों में देखें अद्भुत नजारे

The last solar eclipse of the year 2022 CHANDIGARH, 25 OCTOBER: देश के अधिकांश भागों में आज इस साल का अंतिम सूर्य ग्रहण देखा गया। कहीं यह सूर्य ग्रहण आंशिक … Read More

इस बार 26 और 27 अक्तूबर दोनों दिन मनाएं भाई दूज, जानिए क्या है शुभ मुहूर्त

bhai dooj इस साल लगभग हर त्योेहार में तिथियों, दिनों और उनके शुभ मुहूर्तों के निर्धारण में कन्फ्यूजन, असमंजस और मतभेद होते रहे हैं। दीवाली के पंचपर्वों के अंतिम त्योहार … Read More

धनतेरस की अनोखी मान्यता, इन चीजों को खरीदने से घर में आती है समृद्धि

CHANDIGARH, 22 OCTOBER: जीवन अनेक इच्छाओं से भरा हुआ है और त्योहार इन इच्छाओं की पूर्ति का माध्यम बनते हैं। इस त्योहारी सीजन में इच्छाओं को पूरा करने के लिए … Read More

देवताओं के वैद्य और चिकित्सा के भगवान हैं धन्वन्तरि, इन्हीं के लिए देश में आज मनाई जा रही ‘धनतेरस’

CHANDIGARH, 22 OCTOBER: भारत में दीपावली का शुभारंभ ‘धनतेरस’ के त्योहार के साथ होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ‘धनतेरस’ क्यों मनाया जाता है और इस दिन किस … Read More

अयोध्या दीपोत्सव में बनेगा नया विश्व रिकॉर्ड, जानें इस बार क्या है खास

AYODHYA, 21 OCTOBER: दीपावली का त्योहार हो और अयोध्या का जिक्र न हो… संभव ही नहीं है। साल 2017 से अयोध्या में चली आ रही दीपोत्सव की परंपरा इस बार … Read More

कार्तिक मास में किए गए भजन साधन का हजार गुना महत्त्व: विष्णु महाराज

आज की परिस्थितियों में भारत को हिंदू राष्ट्र बनाना समय की जरूरत है  CHANDIGARH, 20 OCTOBER: कार्तिक मास किए गए भजन साधन दान पुण्य का हजारों गुना फायदा होता है, … Read More

कन्फ्यूजन कर लें दूर: इस बार कब है दीवाली पूजन, भाई दूज और गोवर्धन पूजा ? जानिए यहां

deewali 2022: इस साल दीवाली का त्योहार 22 अक्टूबर 2022 को धनतेरस से प्रारंभ हो रहा है और यह 27 अक्टूबर को भाई दूज के साथ संपन्न होगा। 24 अक्टूबर … Read More

तारा डूबने के बावजूद क्यों विशेष है इस बार करवा चौथ ?

कार्तिक कृष्ण पक्ष में करक चतुर्थी अर्थात करवा चौथ का लोकप्रिय व्रत सुहागिन स्त्रियां पति की मंगल कामना एवं दीर्घायु के लिए निर्जल रखती हैं। इस दिन न केवल चंद्र … Read More

चंडीगढ़ में दशहरे से पहले ही आधी रात को जल उठा मेघनाद का पुतला, रावण व कुंभकर्ण के पुतलों को बचाया

Dussehra festival CHANDIGARH, 5 OCTOBER: चंडीगढ़ में दशहरा समारोह और पुतला दहन के आयोजन से पहले ही मेघनाद का पुतला धूं-धूंकर जल उठा। मंगलवार की आधी रात को हुई इस … Read More

आशिम खेत्रपाल की 6 पुस्तकों के माध्यम से साईं बाबा के संदेश को डिजिटली दुनियाभर में पहुचाएगी स्टोरी मिरर

दुनिया में भारतमें सबसे ज्यादा पुस्तकें पढ़ी जाती है, क्यों न पूरा विश्व पढ़ने की आदत डाले खासकर स्पिरिचुअल लिटरेचर: आशिम खेतरपाल CHANDIGARH, 11 SEPTEMBER: आज सामाजिक संदेशों वाली पुस्तकों और मनुष्यों … Read More

error: Content can\\\'t be selected!!